- Advertisement -
देशSatna news ; Satna farmer's cow crazy Australia | सतना के...

Satna news ; Satna farmer’s cow crazy Australia | सतना के किसान की गाय को मिल रहा ऑस्ट्रेलिया में दुलार | Satna farmers cow is getting caress in Australia.

विषम परिस्थिति में भी सतना के उदयभान सिंह ने कर दिखया अपनी कला का जादू , उनके द्धारा बनाई गई कलाकृति ऑस्ट्रेलिया की जॅान कार्टून यूनिवर्सिटी की गैलरी की बढ़ा रही हैं शोभा..

सतना (Satna) ; Satna farmer’s cow crazy Australia मध्यप्रदेश के SATNA जिले में एक कलाकार द्धारा बनाई गई गाय ऑस्ट्रेलिया की जॅान  कार्टून यूनिवर्सिटी की गैलरी की शोभा बढ़ा रही हैं । मैहर के बढ़िया गाँव निवासी उदयभान सिंह ऐसे कलाकार हैं, जिन्होंने सिरेमिक क्राफ्ट में आस्ट्रेलिया और थाइलेंड की इंटरनेशनल मैगजीन में जगह बनाई हैं।

उदयभान की बचपन से ही कला में दिलचस्पी रही हैं

Satna farmer's cow crazy Australia
उदयभान सिंह

 

एक सामान्य किसान परिवार से तालुक रखने वाले उदयभान बताते हैं, की उन्हे बचपन से ही कला में दिलचस्पी रही हैं, वे खेती किसानी से बचा समय कला को देते हैं, शुरू में मिट्टी से कुछ न कुछ बनाता रहता था सामान्य परिवार से होने के कारण उन्हे उचित मंच नहीं मिल पता था। 2013 में एक दोस्त के माध्यम से आर्ट इचौल पहुचा ।

वहाँ आर्ट गैलरी संचालक अंबिका बेरी के पिता ने टेस्ट लिया । पहली बार चाइना क्ले से काम किया । खिलौने और गाये बैल बनाए पर चाइना क्ले में उतना बेहतर नहीं कर पा रहें थे हालांकि उन लोगो को मेरे द्धारा बनाई गई गाय बहुत पसंद आई और यह कहते हुए उन्होंने मुझे रख लिया की तुम गाय ही बनाओगे

2020 कोरोना ने रोकी रहा…

उदयभान सिंह  बताते है की उन्होंने 2017 में अपनी पहली बड़ी प्रदर्शनी कोलकाता में लगाई । इस बाद उन्होंने दिल्ली और चीन में भी अपनी प्रदर्शनी लगाई । सिरेमिक से बनी गाय चीन में भेजी वह जो सारी बिक गई । वही से मुझे आस्ट्रेलिया का रास्ता मिल वहाँ की एक संस्था ने मुझे 2020 के अंत में संपर्क कर आस्ट्रेलिया में मुझे पप्रदर्शनी लगाने का न्योता दिया पर 2020 में कोरोना के कारण वह जाने का मेरा सपना टूट गया

यह भी पढे :- What is Migraine | माइग्रेन क्या है? जानें माइग्रेन होने का कारण, प्रकार आसान भाषा में (health tips in Hindi-2022)

किसी ने नहीं की मदद

उदयभान बताते हैं की, आस्ट्रेलिया जाना तो मेरा लगभग कैंसिल ही हो गया था क्योंकि उन्होंने मुझे से 200 गाय भेजने को कहा था मेरे पास इटेन पैसे भी नहीं था की में क्ले खरीदकर 200 गाये बनाकर विदेश भेज सकूँ तब में ने सांसद सहित अन्य प्रतिनिधि से मदद मांगी पर वहाँ से भी मुझे निराशा ही हाथ लगी किसी तरह अपने बचत के पैसे से में ने 50 गाये बनाकर आस्ट्रेलिया भेजी जिसे वहाँ बहुत पसंद किया गया और मुझे सिरेमिक क्राफ्ट में पहला स्थान मिला ।

कला को जिंदा रखने की तमन्ना

उदयभान की तमन्ना हैं की इस कला को जिंदा रखना हैं बी बताते हैं की मेरी बेटियाँ की रुचि भी इसमें है हमने गरीबी के बीच संघर्ष किया है आगे में उन बचो प्रशिक्षित करना चाहता हु जो बच्चे इस कला में रुचि रखते हैं उडीएबहन बहते है की इस कला का कद्र करने वाले बहुत ही काम लोग हैं

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exclusive content

- Advertisement -

Latest article

More article

%d bloggers like this: