ad

ad

ad

Patwari Bharti News 2023 : पटवारी भर्ती परीक्षा में घोटाले आरोप के बाद, शिवराज ने रोकी नियुक्तियां ।

ad

0

ad

Patwari Bharti News :- मध्यप्रदेश में पटवारी भर्ती परीक्षा (patwari recruitment exam) के परिणाम में संदेह और प्रदेश में अभ्यर्थी द्वारा लगातार चल रहे प्रदर्शन को देखे हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पटवारी भर्ती परीक्षा (patwari recruitment exam) पर रोक लगाने के निर्देश दिए है इसके साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पूरे मामले में जाँच का आदेश दिया है। जांच कि रिपोर्ट आने के पश्चात ही आगे का आदेश जारी किया जाएगा 

गौरतलब है कि कर्मचारी चयन मंडल द्वारा समूह-2, उप समूह-4 एवं भर्ती पटवारी भर्ती परीक्षा के परिणाम में एक ही सेंटर परिणाम पर संदेह व्यक्त करते हुए भर्ती परीक्षा में घोटाले जैसे कई गंभीर आरोप लगाए जा रहे है। इस पूरे मामले में कॉंग्रेस भी सरकार को घेरने के लिए सड़क पर उतर आई है। साथ ही लगतार बेरोजगारों युवाओ के द्वारा भी पूरी पटवारी भर्ती परीक्षा में घोटाला का संदेह व्यक्त किया जा रहा है। 

शिवराज सिंह ने ट्वीट कर रोकी पटवारी नियुक्तियां | Patwari Bharti News

इसी संदेह के आधार पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा है कि “कर्मचारी चयन मंडल द्वारा समूह-2, उप समूह-4 एवं पटवारी भर्ती परीक्षा के परीक्षा परिणाम में एक सेन्टर के परिणाम पर संदेह व्यक्त किया जा रहा है। इस परीक्षा के आधार पर की जाने वाली नियुक्तियां अभी रोक रहा हूँ। सेन्टर के परिणाम का पुनः परीक्षण किया जाएगा।”

ad

चुनावी साल के कारण शिवराज बैकफुट में

इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने के कारण मुख्यमंत्री शिवराज चौहान बेरोजगार युवाओ को नाराज नहीं कर सकते और वो भी पटवारी भर्ती प्रकिया में घोटाले जैसे गंभीर आरोपों के साथ, क्योंकि इससे विपक्ष भी सरकार को पर हावी हो सकता है चुनावी साल में विपक्ष का इस प्रकार हावी होना सरकार के लिए मुश्किल भरा व्यक्त हो सकता है। इसी कारण पटवारी भर्ती परीक्षा में युवाओ द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गंभीरता से लेते हुए भर्ती प्रकिया में रोक लगा दी।

विदित है कि समूह-2, उप समूह-4 एवं भर्ती पटवारी भर्ती परीक्षा में युवाओ द्वारा घोटाला का आरोप लगते हुए  इंदौर में प्रदर्शन किया है जिसमें हजारों की संख्या में युवा बेरोजगारों ने सड़क पर उतर नजर आए। प्रदर्शन के दौरान बेरोजगार युवाओ का कहना है कि योग्य में उम्मीदवारों का चयन नहीं हो रहा जबकि टॉप टेन की सूची में एक ही सेंटर के कई उम्मीदवार को चयनित किया गया है इसके अलावा बेरोजगार युवाओ ने भर्ती प्रक्रिया संदेह जाहिर करते हुए भर्ती प्रकिया में घोटाले का आरोप लगाए गए है। 

ये भी पढ़ें :- 

 

ad

ad

You might also like

ad

startup के लिये युवाओं को बिना ब्याज के 10 लाख तक का लोन beauty tips :- सर्दी में ऐसे रखे अपनी त्वचा का ख्याल ये फलों को खाने से जोड़ों में जमा Uric acid जल्दी हो जाता है खत्म दुनिया के लगभग 84 देशों के WhatsApp यूजर्स के मोबाईल नंबर हुए लीक MPPSC 2018 के Interview में पूछे गये महतपूर्ण प्रश्न