ad

ad

ad

Balram Talab Yojana 2022 :- किसानो को तालाब बनाने में मिल रही 1 लाख तक की सब्सिडी,आज ही करे आवेदन

ad

0

ad

Balram Talab Yojana :- प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत बलराम ताल का निर्माण किया जा रहा है। बलराम तालाब योजना के तहत कृषि के लिए सतही और भूमिगत जल की उपलब्धता को बढाया जायेगा और साथ ही पानी की कमी से होने वाले प्रभाव को कम किया जायेगा जिससे कृषक की खेती के उत्पादन को भी सुनिश्चित किया जा सकेगा।

Balram Talab Yojana की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 25 मई 2007 में की गयी थी जो मुख्य रूप से जल के संरक्षण के लिए कार्यरत है । बलराम तालाब योजना के तहत कृषक द्वारा स्वयं निर्मित संरचनाओ से फसल के जीवन चक्र को बनाये रखने वाली जीवन रक्षक सिंचाई उपलब्ध होगी। अतः Balram Talab Yojana से जुडी जानकारी जानने के लिए पूरी पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े।

ये भी पढ़ें :-Natural Farming :- प्राकृतिक खेती में देशी गाय पालने पर मध्य प्रदेश सरकार देगी, 900 रूपये प्रति माह

Balram Talab Yojana (बलराम तालाब योजना) के लिए आवेदन

बलराम तालाब योजना के लिए आवेदन मध्य प्रदेश सरकार के सरकारी पोर्टल e-कृषि यंत्र अनुदान के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जा रहे है।

Balram Talab Yojana

जो भी कृषक Balram Talab Yojana के तहत अपने खेत में तालाब का निर्माण करवाना चाहते है वे इस योजना से जुडी समस्त जानकारी मध्य प्रदेश सरकार के सरकारी पोर्टल e-कृषि यंत्र अनुदान के माध्यम से प्राप्त कर सकते है।

e-कृषि यंत्र अनुदान से जुड़ने के लिए सरकारी वेबसाइट mpdage.org है।

ये भी पढ़ें :-Indian army requirement 2022 :- 10 वी पास युवाओ के लिए भारतीय सेना में निकली भर्ती,आवेदन की अंतिम तिथि 30 अप्रैल

Balram Talab Yojana के लक्ष्य :- परियोजना मध्य प्रदेश के सभी जिलो में लागू होगी जिसमे प्रदेश के सभी वर्ग के कृषक को लाभान्वित किया जा सकेगा। परियोजना का क्रियान्वयन कृषि विभाग के द्वारा किया जायेगा एवं जिलेवार लक्ष्यों का निर्धारण राज्य स्तर पर किया जायेगा, शेष जानकारी ऑफिसियल वेबसाइट mpdage.org से जरुर प्राप्त करे।

बलराम तालाब योजना की पात्रता :- योजना में केवल वे कृषक ही पात्र होंगे जिनके पास वित्तीय वर्ष 2017-18 एवं उसके पश्चात प्रदेश में विभाग द्वारा संचालित कोई भी योजना के तहत ड्रिप या स्प्रिंकलर सेट की स्थापना की गयी हो एवं वर्तमान रूप में चालू की स्थिति में हो, शेष जानकारी ऑफिसियल वेबसाइट से जरुर प्राप्त करे

ad

ये भी पढ़ें :-Renault kwid ने बहुत कम कीमत में कर दी अपनी इलेट्रिक कार को लॉन्च फीचर्स देख हो जाओगे हैरान

बलराम तालाब योजना में अनुदान :-  योजनान्तर्गत सभी वर्ग के कृषको के लिए अलग अलग अनुदान की सीमा निर्धारित की गयी है जो इस प्रकार है-

बलराम तालाब योजना
बलराम तालाब योजना
  • लघु सीमान्त, अनुसूचित जाति एवं जन जाति के लिए मूल्यांकन अनुसार वास्तविक व्यय का 75 % या अधिकतम रूपये 1,00,000 अनुदान होगा
  • लघु एवं सीमान्त कृषको के लिए मूल्यांकन अनुसार वास्तविक व्यय का 50 % या अधिकतम रूपये 80,000 अनुदान होगा
  •  शेष वर्गों के कृषको के लिए मूल्यांकन अनुसार वास्तविक व्यय का 40 % या अधिकतम रूपये 80,000 अनुदान होगा

शेष जानकारी ऑफिसियल वेबसाइट से जरुर प्राप्त करे

ये भी पढ़ें :Top 5 Best car under 5 lakh in 2022 | भारत में 5 लाख तक की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार

बलराम तालाब योजना का परिणाम :- 

  • Balram Talab Yojana में निर्मित तालाब या जल ग्रहण संरचनाओ के द्वारा किसान खरीफ के समय वर्षा के लम्बे अन्तराल के चलते अपनी फसल को जीवन रक्षक सिंचाई दे सकेगा
  • वर्षा के उपरांत रबी की फसल के समय बोनी से पहले पलेवा हेतु 3 हेक्टेयर के लिए पानी उपलब्ध रहेगा जिससे किसान अपनी रबी की फसल की पैदावार को सुनिश्चित कर सकेगा
  • योजना से लाभान्वित किसान को इस तरह 15 से 20 % का फसल के उत्पादन में लाभ होगा जिसके फलस्वरूप  किसान की एक अच्छी आय होगी और किसान योजना में लिए गए ऋण को भी आसानी से चुका सकेगा

योजना विशेष :- योजना से जुडी पूरी जानकारी को e-कृषि यंत्र अनुदान के माध्यम से अच्छी तरह पढ़े जिसमे मुख्य रूप से पंजीयन कैसा करना है, परियोजना का स्वरूप क्या है ,योजना निर्माण एवं प्राक्कलन, योजना की तकनीकी एवं प्रशासनिक स्वीकृति, कार्यसम्पादन प्रकिया, मूल्यांकन प्रकिया, निरिक्षण एवं भौतिक सत्यापन आदि बिन्दुओ को समझ कर ही योजना के लिए आवेदन करे

ये भी पढ़ें :-

ad

ad

You might also like

ad

startup के लिये युवाओं को बिना ब्याज के 10 लाख तक का लोन beauty tips :- सर्दी में ऐसे रखे अपनी त्वचा का ख्याल ये फलों को खाने से जोड़ों में जमा Uric acid जल्दी हो जाता है खत्म दुनिया के लगभग 84 देशों के WhatsApp यूजर्स के मोबाईल नंबर हुए लीक MPPSC 2018 के Interview में पूछे गये महतपूर्ण प्रश्न